Heart Attack in Young Age – नौजवानों को हार्ट अटैक क्यों आ रहे है ?

0
Heart Attack in Young Age
Heart Attack in Young Age
Share with your friends.

Heart Attack जिस बीमारी को लोग बुजुर्गो की बीमारी कहते थे लेकिन आज बदलते समय और लाइफस्टाइल के साथ साथ बीमारियों ने भी अपना रुख बदल लिया है आज भारत समेत दुनिया भर के देशी में यंग ऐज में हार्ट अटैक के मामलो में लगातार बढ़ोत्तरी दर्ज कि गयी है बीते गुरुवार को अभिनेता और बिग बॉस 13 के विनर सिद्धार्थ शुक्ला का गुरुवार को महज 40 साल की उम्र में हार्ट अटैक से निधन हो गया है. मुंबई के कूपर अस्पताल ने सिद्धार्थ शुक्ला के मृत होने की पुष्टि की थी| तो आज हम Heart Attack in Young Age नौजवानों को हार्ट अटैक क्यों आ रहे है इस विषय पर बात करने जा रहे है जिसे हम इसके कारणों और इसके बचाव के बारे में भी बात करेंगे और साथ ही हार्ट अटैक के लक्षणों के बारे में भी बात करेंगे Heart Attack Symptoms in Hindi 

पहले बढ़ती उम्र प्रमुख कारण था जो हृदय रोगों की समस्या को बढ़ाता था, लेकिन इस समय काम का तनाव, खराब लाइफ स्टाइल और खान-पान की गलत आदतें युवा पीढ़ी के लिए हार्ट अटैक समेत कई गंभीर बीमारियों को निमन्त्रण दे रही है| तो चलिए इस विषय के बारे में विस्तार से जानते है :-

Heart Attack in Young Age – नौजवानों को हार्ट अटैक क्यों आ रहे है ?

आखिर क्या हुआ अंकित के साथ :- 

कुछ दिनों पहले की बात है 29 साल के अंकित दिल्ली में अपने घर में AC चलाकर सो रहे थे सुबह करीब 4 बजे उनके सीने में अचानक दर्द उठता है दर्द इतना बुरा था था कि उनकी नींद खुल गई| वह पसीने से पुरे तर-बतर हप चुके थे| घर में अंकित से साथ कोई नहीं था जो अंकित को अस्पताल ले जा सकता था,अंकित ने कराहते हुए दर्द को सहा| कुछ देर बाद जब दर्द कम हुआ तो फिरसे नींद आ गई|

सोकर उठे तो तबियत थोड़ी ठीक लगी इसलिए अंकित ने डॉक्टर के पासजाने अक फैसला फ़िलहाल टाल दिया,लेकिन अगले दिन चलने फिरने से लेकर रोजमर्रा के काम में भी उन्हें दिक्कत आई| इसलिए अब अंकित ने डॉक्टर के पास जाने का फैसला किया| डॉक्टर ने अंकित की परेशानी सुनने के बाद उन्हें Echo-cardiogram test कराने की सलाह दी|

Echo-cardiogram test कराने के बाद अंकित की रिपोर्ट आई और उसे पढने के बाद डॉक्टर ने उन्हें बताया की 36 घंटे पहले जो उन्हें जो दर्द उठा था वह हार्ट अटैक था| डॉक्टर की बात सुनकर अंकित के होश उड़ गए|वो समझ ही नही पा रहा था की इतनी कम उम्र में हार्ट अटैक कैसे आ सकता है| आंकड़े बताते है की कम उम्र में हार्ट अटैक आने के मामले दिनों दिन भारत में बढ़ते जा रहे है| Heart Attack in Young Age

अंकित से मिली जानकारी के अनुसार भी रिपोर्ट में सामने आया कि अंकित भी 22 साल की उम्र से सिगरेट पीते थे 29 साल के होते होते वह एक बड़े स्मोकर बन चुके थे|लेकिन हार्ट अटैक आने के बाद अंकित ने सिगरेट के साथ सभी नशे की गलत आदत को छोड़ दिया है,लेकिन दिल की हुई बीमारी के लिए उन्हें 3 दवाई रोज खानी पड़ती है|

हार्ट अटैक से जुड़े कुछ विशेष शोध :- 

अमेरिका के एक रिसर्च जनरल के एक लेख में छपी रिपोर्ट के मुताबिक 2015 में भारत में करीब 6.2 करोड़ लोगो को दिल से जुडी बीमारी हुई इनमे से तक़रीबन 2.3 करोड़ लोगो की उम्र 40 साल से कम थी,यानि की 40% हार्ट के मरीजो की उम्र 40 साल से कम है | भारत के लिए यह आंकड़े अपने आप के लिए चौकाने वाले है |जानकर बताते है कि पूरी दुनिया में भारत में यह आंकड़े सबसे तेजी से बढ़ रहे है|

Healthdata.org के मुताबिक Pre-mature Death यानि कि अकाल मृत्यु के कारणों में दिल की बीमारी तीसरे नंबर में थी,लेकिन 2016 में दिल की बीमारी अकाल मृत्यु का पहला कारण बन चुकी है| आज से करीब 10-15 साल पहले दिल की बीमारी को Heart Attack in Young Age अक्सर बुजुर्गो से जोडकर देखा जाता था लेकिन पिछले एक दशक में दिल से जुडी बीमारी के आंकड़े कुछ और ही कहानी कहने लगे है|

देश के जाने माने Cardiologist और पद्म श्री से सम्मानित Dr. S.C Manchanda के मुताबिक दरअसल देश के युवाओ का दिल कमजोर हो गया है| डॉ मनचंदा फ़िलहाल दिल्ली के जाने माने हॉस्पिटल सर गंगाराम हॉस्पिटल में है इससे पहलेवो AIIMS के कार्डियो विभाग के कई सालो तक हेड भी रह चुके है उनके मुताबिक कमजोर दिल का कारण हमारे नए ज़माने की जीवन शैली है| देश के युवाओ में फैले Lifestyle Disorder के लिए वह पांच कारणों को एहम मानते है |

Heart Attack in Young Age – हार्ट अटैक के लक्षण :- 

पढने की उम्र में बच्चो के अन्दर आजकल तनाव आम है इतना ही नही छात्रो के जीवन में खाने की गलत समय और पढने के लिए इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का घंटो तक इस्तेमाल कोई नई बात नही है| डॉक्टरों की माने तो हार्ट अटैक का सबसे बड़ा लक्षण माना जाता है सीने में तेज दर्द | Heart Attack Symptoms in Hindi

अक्सर किसी फिल्म में जब किसी को दिल का दौरा पड़ता है तो वह अपने सीने को जोर से जकड़ लेता है दर्द के मारे उसकी आँखों में घबराहट दिखने लगती है और वह जमीं पर गिर पड़ता है और हम सभी को लगता है की दिल का दौरा पड़ने पर सभी को ऐसा ही एहसास होगा जैसे हमारे सीने को कुचला जा रहा है ऐसी अनुभूति होती भी है लेकिन यह हमेशा नही होता |

जब दिल तक खून की आपूर्ति नही हो पाती है तो दिल का दौरा पड़ता है | आमतौर पर हमारी धमनियों के रास्ते में किसी तरह की रुकावट आने की वजह से खून दिल तक नही पहुँच पाता इसलिए सीने में तेज दर्द होता है|

लेकिन कभी कभी दिल के दौरे में सीने में दर्द नही होता तो इसे साइलेंट हार्ट अटैक कहा जाता है यह हार्ट अटैक से ज्यादा खतरनाक होता है| Healthdata.org के मुताबिक आज भी दुनिया भर में अलग अलग बीमारियों से होने वाली मौतों में दिल की बीमारी सबसे बड़ी वजह है|

Heart Attack Symptoms in Hindi – हार्ट अटैक के लक्षण :- 

हार्ट अटैक के लक्षण की बात करे तो आपके सीने में तेज दर्द, सांस लेने में दिक्कत- सांस लेने में समस्या हो रही है या फिर पूरी तरह से सांस लेने के बाद भी आपको सांस की कमी महसूस हो रही है तो यह हार्ट अटैक का संकेत हो सकता है. इसके अलावा कुछ लोगों को घबराहट, डायजेशन, सीने में जलन और पेट में दर्द की समस्या भी हो सकती है|

इसी के साथ कभी कभी यह भी पाया गया है की लोगो को बिना कोई लक्षण भी हार्ट अटैक आता है इसे साइलेंट अटैक कहते है इसमे व्यक्ति को किसी भी प्रकार का कोई दर्द महसूस नही होता और वह मुर्छित हो जाता है कभी कभी व्यक्ति की जान भी चली जाति है यह सामान्य हार्ट अटैक से ज्यादा खतरनाक होता है| Heart Attack Symptoms in Hindi तो चलिए अब हार्ट अटैक के कुछ और लक्षणो के बारे में विस्तार से जान लेते है :-

Heart Attack से बचने के उपाए :- 

अगर बात करे हार्ट अटैक से बचने के उपायों की तो चलिए अब विस्तार में जान लेते है कि क्या क्या ऐसे उपाय है जिसके द्वारा आप हार्ट अटैक से अपने आप को बचा सकते है और इस बीमारी से दूर रह सकते है| यह सभी उपाए ऐसे है जिसे हर व्यक्ति कर सकता है और हार्ट अटैक की बीमारी से बच सकता है|

  1. योग और एक्सरसाइज करे 
  2. ऑयली और जंक फ़ूड से परहेज करे 
  3. अपने शरीर के वजन पर नियंत्रण रखे 
  4. उचित खान-पान रखे 
  5. तनाव और डिप्रेशन से दूर रहे 
  6. ब्लड प्रेशर पर ध्यान दे
  7. मछली का सेवन करे
  8. नमक का सेवन कम करे
  9. अच्छी और पर्याप्त नींद ले 
  10. तम्बाकू और सिगरेट की लत छोड़े 

महिलाओ की अपेक्षा पुरुषो को ज्यादा खतरा 

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के Dr. A.K. Aggarwal के मुताबिक महिलाओ में प्री मेनुपोस हर्ट की बीमारी नही होती इसके पीछे महिलाओ में पाए जाने वाले सेक्स हारमोंस है जो उन्हें दिल की बीमारी से बचाते है लेकिन पिछले कुछ समय में महिलाओ में प्री मेनुपोस वाली उम्र में भी हार्ट अटैक जैसी बीमारी देखी जा रही है|

पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन के डॉ श्रीनाथ रेड्डी के मुताबिक अगर कोई महिला स्मोकिंग करती है या फिर गर्भ निरोधक दवाइयों का लम्बे समय से इस्तेमाल करती रही हो तो प्राकृतिक रूप से शरीर की हार्ट अटैक से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है| डॉ रेड्डी के अनुसार महिलाओ में प्री मेनुपोस की उम्र के खत्म होने के पांच साल बाद हार्ट अटैक का खतरा पुरुषो के बराबर हो जाता है कई तरह के शोध है जिनमे पाया गया है कि Heart Attack in Young Age महिलाये अक्सर सीने के दर्द को नजरअंदाज कर देती है और यही कारण है कि उन्हें इलाज देर से मिलता है|

सरकार भी बनाये नियम 

इस बारे में डॉ मनचंदा कहते है की युवाओ को दिल की बीमारी से बचाने के लिए सरकार को भी कड़े कदम उठाने चाहिए| अब आप सोच रहे होंगे की सरकार इसमे क्या करेगी तो डॉ मनचंदा का मानना है की सरकार कप जंक फ़ूड पर ज्यादा टैक्स लगाना चाहिए जैसे सरकार तम्बाकू,सिगरेट और शराब पर लगाती है| साथ ही जंक फ़ूड के लिए लोगो को जानकारी देनी चाहिए | Heart Attack Symptoms in Hindi

सरकार इसके लिए कुछ नियम भी बना सकती है ऐसा करने से डॉ मनचंदा का मानना है समस्या इतनी जल्दी खत्म तो नही होगी लेकिन लोगो में जागरूकता जरुर बढ़ेगी | अक्सर यह भी सुनने में आता है कि हार्ट अटैक का सीधा संबंध शरीर के कोलेस्ट्रोल लेवल से होता है इसलिए अधिक तेल में बना हुआ खाना न तो बनाये और न ही खाए लेकिन इस बात में कितनी सच्चाई है यह आप भी जानते है|

डॉ मनचंदा का कहना है कि बढ़ते हुए कोलेस्ट्रोल लेवल से नही लेकिन ट्रांसफैट से दिक्कत ज्यादा आ सकती है| ट्रांसफैट शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रोल को कम करता है और बुरे कोलेस्ट्रोल को बढाता है वनस्पति और डालडा ट्रांसफैट के मुख्य स्त्रोत होते है इसलिए इनसे बचना चाहिए|

आखिरी शब्द :- 

तो आशा करता हूँ कि आज के हमारे ब्लॉग के टॉपिक Heart Attack in Young Age और Heart Attack Symptoms in Hindi के बारे में मैंने आपको पूरी जानकारी देने की कोशिश की है इस जानकारों के मुताबिक इन तरीको पर अमल करके  युवा हार्ट अटैक के अटैक से बच सकते है| साथ ही यह सभी जानकारी इन्टरनेट के माध्यम से प्राप्त की गई है और उसे आप तक इस ब्लॉग के माध्यम से पहुँचाया है| तो अगर यह जानकारी आपको पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे| धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here