Months Name in Hindi and English – महीनो के नाम हिंदी और इंग्लिश में

0
Months Name in Hindi and English
Months Name in Hindi and English

दोस्तों समय को मापने का सबसे आसान और महत्वपूर्ण तरीका है महीनो के आधार पर समय को मापना अर्थात हम समय का अनुमान महीनो के नाम के आधार पर आसानी से कर सकते है। हम किसी वर्ष के ऋतु या फिर दिनों का अनुमान महीनो के आधार पर लगाते है उदाहरण के तौर पर जैसे अभी शीत ऋतु अर्थात ठंड का मौसम है तो अभी दिसंबर का महीना है और दिसंबर में 31 दिन होते है तो कुछ इस प्रकार से हम समय और ऋतू को महीनो के रूप में समझ सकते है तो आज मैं आपको Months Name in Hindi and English के बारे में बताने वाला हूँ। 

महीनो के नाम वो भी हिंदी में Months Name in Hindi (हिन्दू पंचांग के अनुसार) इसके अलावा Months Name in English अर्थात अंग्रेजी नववर्ष के अनुसार अलग अलग होते है लेकिन बहुत कम ऐसे लोग है खासकर बच्चे तो हिंदी महीनो के नाम जानते ही नही है तो चलिए आज मैं आपको इन सभी महीनो के नाम हिंदी और इंग्लिश में बताता हूँ जिससे आप आसानी से सभी को समझ सके और याद कर सके। तो चलिए विस्तार से जान लेते है:- 

“Months Name in English”
महीनो के नाम (अंग्रेजी)

Serial no.Months Name in EnglishNo. of Days in Months
01January31 Days
02February28 Days (Leap Year 29)
03March31 Days
04April 30 Days
05May31 Days
06June30 Days
07July31 Days
08August31 Days
09September30 Days
10October31 Days
11November30 Days
12December31 Days

आमतौर पर ज्यादातर लोगो को बस इतना याद रहता है, विशेषकर बच्चो को कि वर्ष में 12 महीने होते है लेकिन कौन सा महीना कब और कितने दिन का होता है इसका सटीक जवाब उनके पास नही होता है। साधारणतया बात करे तो सभी जानते है की अंग्रेजी नववर्ष जनवरी से शुरू होता है और जनवरी में 31 दिन होते है इसके अलावा दिसंबर वर्ष का आखिरी महीना होता है और उसमे भी 31 दिन होते है ।  तो आज के विषय में हम यही सभ जानेंगे और साथ ही महीनो के नाम को हिंदी में क्या कहते है यह भी जानेंगे। 

Months Name in Hindi and English
Months Name in Hindi and English

महीनो के नाम (हिंदी) – Months name in Hindi

अगर हम बात करे महीनो के नाम वो भी हिंदी में तो भारतीय हिन्दू पंचांग के अनुसार हिन्दू नववर्ष की शुरू चैत्र मास से जो की मार्च से शुरू होता है तभी से हिंदी नववर्ष की शुरुआत होती है इसके बाद वैशाख, ज्येठ, आषाढ़ आदि महीने आते है तो आइये एक बार हिंदी के महीनो के नाम Months name in Hindi हिन्दू पंचांग के अनुसार समझते है कि कब कौन सा महीना आता है और उसे अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार क्या कहेंगे।

अगर बात करे हिंदी पंचांग के कैलेंडर के अनुसार महीनो के नाम को समझने की तो हिंदी कैलेंडर की समयावधि और तिथि अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार बिलकुल ही अलग होती है जहाँ मैंने आपको पहले ही बताया कि अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार वर्ष जनवरी मास से शुरू होता है लेकिन हिंदी पंचांग कैलेंडर के अनुसार हिंदी नववर्ष की शुरुआत चैत्र मास से होती है जो अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार मार्च का महीना होता है।

Months Name in Hindi and English
महीनो के नाम हिंदी और इंग्लिश

Serial no.Months Name in Englishमहीनो के नाम महीनो के नाम (हिन्दू पंचांग अनुसार)
01.Januaryजनवरी माघ (जनवरी-फरवरी)
02.Februaryफरवरी फाल्गुन (फ़रवरी-मार्च)
03.Marchमार्च चैत्र (मार्च-अप्रैल)
04.Aprilअप्रैल वैशाख (अप्रैल-मई)
05.Mayमई ज्येठ (मई-जून) 
06.Juneजून आषाढ़ (जून-जुलाई)
07.Julyजुलाई श्रावन (जुलाई-अगस्त)
08.Augustअगस्त भाद्रपद  (अगस्त-सितम्बर)
09.Septemberसितंबर आश्विन (सितम्बर-अक्टूबर)
10.Octoberअक्टूबर कार्तिक (अक्टूबर-नवम्बर) 
11.Novemberनवंबर मार्गशीर्ष (नवम्बर – दिसम्बर) 
12.Decemberदिसंबर पौष (दिसम्बर-जनवरी)

यहाँ ध्यान देने योग्य बात यह है कि 30 दिन या फिर 31 दिनों का महीना अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार एक ही महीने का होता है लेकिन हिंदी कैलेंडर का महिना 15-15 दिनों के अंतराल के बीच दो अंग्रेजी कैलेंडर में बंट जाता है अर्थात दो महीनो के बीच पूर्ण होता है जैसा कि आपको मैंने ऊपर सारणी में समझाया है।

Months Name in Hindi and English कुछ इस प्रकार से 28, 29, 30 और 31 दिनों को मिलाकर वर्ष में कुल 365 दिन, 52 हफ्ते और 12 महीने होते है जिससे मिलकर एक वर्ष बनता है। दूसरी तरफ अगर कोई वर्ष लीप वर्ष होता है आसान शब्दों में कहे तो फरवरी में 29 दिन हो तो कुल 366 दिन वर्ष में होते है और लीप वर्ष की बात करे तो लीप वर्ष हर 4 वर्ष बाद आता है। उदाहरण के लिए समझे तो वर्ष 2020 लीप वर्ष था और अब 2024 में फिर लीप वर्ष आएगा।

Months Name in Hindi and English

ऋतुओ के आधार पर महीने

अब बात करते है भारत में महीनो के आधार पर या फिर ऋतुओ के आधार पर कितने महीने होते है और कौन सी ऋतु या कहे कौन सा मौसम कब और किस महीने में आता है?

भारत में मुख्य तौर पर ऋतुओ को तीन भागो में बाँटा गया है शरद, ग्रीष्म और वर्षा ऋतु लेकिन प्राचीन काल में ऋतुओ को छह भागो में बाँटा जाता था वसंत , ग्रीष्म , वर्षा , शरद , हेमंत और शिशिर। सभी ऋतुओ का समय अंतराल भी अलग अलग है किसी ऋतु का एक महीने तो किसी का दो महीने। चलिए अब ऋतुओ का समय अंतराल के बारे में भी जान लेते है।

ऋतुओ के नाम (महीनो के आधार)

ऋतुमहीनो के नाम महीने (हिन्दू कैलेंडर अनुसार)
ग्रीष्म मई से जून ज्येष्ठ से आषाढ़
वर्षा जुलाई से सितंबर श्रावण से भाद्रपद
शरद अक्टूबर से नवंबर आश्विन से कार्तिक
हेमन्त दिसंबर से 15 जनवरी (लगभग)मार्गशीर्ष से पौष
शिशिर 16 जनवरी (लगभग) से फरवरी माघ से फाल्गुन
वसन्त मार्च से अप्रैल चैत्र से वैशाख

तो इस प्रकार से आप महीनो के नाम और महीनो के अनुसार ऋतुओ को भी समझ सकते है। तो आशा करता हूँ आज की यह जानकारी आपको बेहद ही पसंद आई होगी और आपको Months Name in Hindi and English को समझने में काफी आसानी हुई होगी। साथ ही महीनो के नाम को लेकर आपके सभी प्रश्नों के उत्तर आपको मिल चुके होंगे। तो अगर यह जानकारी आपको पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे और साथ ही साथ और भी रोचक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारी अन्य पोस्ट पढ़े। धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here